अंबानी की दौलत से ज्यादा पैसा भेज सकते हैं यूएस, यूके, जापान में रहने वाले NRIs

साल 2022 में NRIs भारत में रहने वाले अपनों 100 अरब डॉलर भेज सकते हैं. यह आंकड़ा मुकेश अंबानी की कुल दौलत (Mukesh Ambani Net Worth) से ज्यादा है जो मौजूदा समय में 96 अरब डॉलर हैं.

World Bank ने भविष्यवाणी करते हुए कहा है कि इस साल साउथ ए शिया में रेमिटेंस फ्लो 3.5 फीसदी बढ़कर 2022 में 163 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगा.  यह 2021 के 6.7 फीसदी के Profit से कम है. 

 भारत में यह इजाफा 12 फीसदी देखने को मिल सकता है और नेपाल में 4 फीसदी के इजाफे की उम्मीद की जा रहा है. दूसरे देशों में 10 फीसदी की गिरावट देखने को मिल सकती है.

यह भी कहा गया है कि 2022 में वैश्विक चुनौतियों के बावजूद, निम्न और मध्यम आय वाले देशों में रेमिटेंस 5 फीसदी बढ़कर 626 अरब डॉलर हो जाएगा.

अमेरिका, ब्रिटेन और सिंगापुर जैसे धनी देशों में रहने वाले अत्यधिक कुशल भारतीय प्रवासी अधिक पैसा घर भेज रहे हैं.

Tap

2022 में निम्न और मध्यम आय वाले देशों के लिए प्रेषण 5 फीसदी बढ़कर लगभग 626 बिलियन डॉलर हो गया है.

रेमिटेंस के लिए अन्य शीर्ष प्राप्तकर्ता देशों में मेक्सिको, चीन, मिस्र और फिलीपींस शामिल हैं.

Step 5

घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय झटकों ने पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका जैसे देशों को प्रभावित किया है, जिनके लिए प्रवासियों द्वारा अर्जित रेमिटेंस इस वर्ष कम होने की उम्मीद है.

भारत और नेपाल को छोड़कर अन्य दक्षिण एशियाई देशों ने 2021 से अपने रेमिटेंस में 10 फीसदी से अधिक की गिरावट देखी.